अनजान औरत की सेक्सी आर्मपिट

हेलो दोस्तों मैं रोनक दिल्ली से हु. यह कहानी ६ मार्च की है. मैं मेट्रो से उतर के अपने फ्लैट में जा रहा था. करीब दोपहर के १ बज रहे होंगे, गर्मी थोड़ी ज्यादा थी. मैं ऐसे ही खड़ा था स्टैंड के पास.

तभी मेरी नजर वहां खड़ी एक लेडी पे पड़ी, जो कि ३८ साल की उम्र की थी, लेकिन फिट थी. हाइट ५ फुट ५ इंच और साइज़ ३६-३२-३८ थी. मेरी देखते ही हालत खराब होने लगी.

तभी एक सिटी बस आई वह लेडी उस बस में चढ़ गई, तो मैं भी उसी में चढ़ गया. एक्चुअली मेरा फ्लेट भी उसी रास्ते पर पड़ता था, तो मैं उस लेडी के पास जाकर खड़ा हो गया.

सिट तो मिली नहीं भिड की वजह से. उस लेडी से मैं थोड़ी दूर पर खड़ा था. थोड़ी देर बाद एक रेड लाइट में भीड़ थोड़ी बढ़ गयी. मैं मौका देख कर उस लेडी के पास जाकर खड़ा हो गया.

दोनों दरवाजों से लोग चढ़ गए थे तो अब मेरा फेस और उसका फेस आमने सामने था, हम बीच में थे. उस ने एक हाथ से ऊपर पकड़ा हुआ था और एक हाथ से सामने. उसने स्लीवलेस ड्रेस पहना था.

तो उसकी आर्मपिट साफ दिख रही थी. लेकिन सिर्फ मेरा ही ध्यान था उस पर था इतनी भीड़ में.. गर्मी और भीड़ की वजह से उसको थोड़ी गर्मी भी होने लगी. पसीना उसके गले, आर्मपिट में भी आने लगा, और हल्की की स्मेल भी कर रही थी.

जो मुझे पागल बना रही थी, मैं बस उसे स्मेल करे जा रहा था और अपनी गर्म सांसे उस पर छोड़ रहा था, वह लेडी उसे फील कर रही थी लेकिन भीड़ की वजह से कुछ बोल नहीं रही थी. फिर आगे जाकर बसने अचानक ब्रेक लगाई तो मेरा मुंह उसके आर्मपिट से टकरा गया.

उसने सॉरी बोला, मैंने उसकी आंखों में देखकर नॉटी स्माइल किया और मेरे लिप्स पर लगे पसीने के बूंद को में अपनी जीभ से चाट लिया, मेरा ऐसा करने पर वह इधर उधर देखने लगी, फिर सर को नीचे की और झुका लिया. मैंने सोचा कि और एक चांस लिया जाए.

मेरा लंड पूरा रोड की तरह जींस में तना हुआ था. मैंने थोड़ा पास जाकर ऐसा मोमेंट क्रिएट किया जिससे मेरा लंड वह फिल कर सकें, और भीड़ का फायदा उठाकर थोड़ा उसके पीछे हो गया और उसकी गांड से अपने लंड को टच करवा दिया, मेरे इस तरह से करने से वह शोक हो के मुझे देखने लगी.

कुछ सेकंड देखने के बाद वह बोली सीधे खड़े नहीं हो सकते? मैंने कुछ देर उसे देख कर बोला सीधा ही तो खड़ा हूं. तो वो स्माईल करने लगी. फिर हम ऐसे ही बात करते रहे. उसने बताया कि वह अपने मॉम डैड के पास जा रही है. मैंने बोला मैं यही रहता हूं सामने, तो वह फिर से स्माइल करने लगी.

मैं फिर से वही करने लगा इस बार मैंने उसकी चूतड़ पर हाथ रख कर दबा दिया, उसने कुछ नहीं कहा. मैं समझ गया. फिर मैं मौका देख कर अपना लंड उसकी गांड की दरार के बीच रगड़ने लगा जींस के ऊपर से ही. वह भी पीछे की ओर हो रही थी. मौका देख के मैंने उसके कान में बोला कि मेरे फ्लैट पर चलें?

तो पहले वह डरने लगी, बोली कोई देख लेगा, लेकिन मैंने उसको समझाया कि कोई नहीं है मैं अकेला रहता हूं, तो वह मान गई. उसने घर में फोन करके कह दिया की फ्रेंड के साथ हु और २ घंटे के बाद आउंगी. बस में उसकी गांड खूब दबाया मैंने, फिर हम अपने फ्लैट पर आ गए. दरवाजा लॉक कर के उसको गोद में उठा लिया.

वह बोली आराम से. मैं उसके फेस को चाटने लगा पागलों की तरह. मेंने उसे गोद में बिठा रखा था उसके लिप्स को स्मूच कर रहा था, वह बस मजे ले रही थी. में उसके नेक पर के पसीने को चाट रहा था, ऐसा करने पर वह और गर्म होने लगी. फिर मैंने उसके बाल पुरे खोल दिए, घने लंबे चूतड़ तक बाल थे उसके.

उसका देसी फ़िगर मुझे पागल कर रहा था. चुमते चाटते हुए ही मैंने उसकी ड्रेस निकाल दी. उफ़ आंखें फटी रह गई मेरी. कितने मस्त और बड़े बूब्स थे. उसकी ब्रा को भी जट से निकाल दिया. मैंने बूब्स को मुंह में भर लिया, वह मेरे बालों को सहलाये जा रही थी. मैंने १५ दिन से कोई चूत नहीं मारी थी तो आज मैं उसकी खुब बजाने वाला था.

में उसकी निप्पल को दांत में लेकर खिंच रहा था जोर जोर से और वह जोर जोरआह हू औउ ईई ओऊ अहह ओऊ औउ इई अहह ओह्ह हहह अम्म्म ऐसे मोन कर रही थी.

में फिर उसके दोनों घुटनों के बीच अपना मुह रगडने लगा, वह बस मजे ले रही थी. और एक हाथ से मेरी जींस के ऊपर से लंड को दबा रही थी. अब मैंने उसे गोद से उतार कर बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर आकर उसे किस करने लगा. फिर उसके सारे कपड़े निकाल कर उसकी चूत को किस करने लगा.

जो पूरी उसके काले बालों से भरी हुई थी, वह शर्मा रही थी तो मैंने बोला शर्माओ मत मुझे बालो वाली चूत पसंद है. फिर मैंने अपने जीभ से उसके चूत के दाने को रगड़ने लगा वह पीछे चली गई. मैंने उसके टांगों को पकड़कर अपनी और खिंचा और जोर से उसकी कमर को पकड़ कर उसकी चूत के अंदर जीभ डाल दी और चाटने लगा. वह तड़प रही थी. मैं पूरी जीभ से उसकी चूत को चोद रहा था.

वह आह्ह उऔउ ईई ओऊ अह्ह्ह अम्म मोह्ह हहह करे जा रही थी. ५ मिनट तक कंटिन्यू चाटने के बाद वह मेरा सर को अपनी चूत में दबाने लगी, अब उसको भी मजा आ रहा था. मे पूरे जोर जोर से उसकी चूत को चाट रहा था और बूब्स को मसल रहा था, उसकी चूत की खुशबू से मुझे अलग ही नशा हो रहा था. १५ मिनट तक उसकी चूत को चाटने के बाद उसने अपनी जांघ से मेरे सर को जोर से जकड़ लिया.

और बेडशिट को पकड़कर खींचने लगी. मुझे पता लग गया वह झड़ने वाली है. मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर ही डाल रखी थी. वह पूरी मेरे मुंह पर जड गई, आम्म्म वाह क्या पानी था? मैंने पूरी कम उसकी चाट ली, वह अब काफी रिलेक्स हो चुकी थी और मुझे देख रही थी. अब मैंने अपनी जींस उतार दी उसने मेरा लंड  देखकर स्माईल किया और बिना कुछ बोले मुह में भर लिया.

और औउ अह्ह्ह ओओओं होह हां म्ह्ह ओओओ अह्ह्ह मेरी आंखें बंद होने लगी. फिर उसके बालों को सहलाते सहलाते उसके बालों को जोर से पकड़ कर उसके सर को आगे पीछे करने लगा और उसके मुंह को चोदने लगा. पूरा लंड वह ले नहीं पा रही थी लेकिन मैं डाले जा रहा था. वह कुछ बोल भी नहीं पा रही थी. फिर धीरे धीरे करने लगी, वह मेरे बोल्स को चाटने लगी, हम 69 में आ गए फिर मैं उसकी चूत को चाटने लगा.

और लंड को वह मुंह में अब पूरा लेकर चुसे जा रही थी. करीब १० मिनट तक चूसने के बाद उसको बेड पर डॉगी बना दिया, और उसके ऊपर आकर उसके बेक को किस करने लगा. वह मौन किए जा रही थी, और मैंने अपना लंड  उसकी चूत पर रगडने लगा पीछे से. वह मेरे लंड को पकड़ कर चूत में डाल रही थी. बोल रही थी प्लीज डाल दो ना, अब और बर्दाश्त नहीं हो रहा है. मेने उसकी चूत पर थूक लगाया.

और लंड को रख के जोर से शॉट मारा एकदम पूरा लंड घुस गया उसकी चूत में लेकिन ठीक से सेट नहीं हुआ, वह दर्द से आह्ह औउ हहह ईई हहह चिल्लाने लगी. मैंने थोड़ी देर ऐसे ही छोड़ा फिर उसके बूब को पकड़ के जोर का धक्का मारा, पूरा लंड  उसकी चूत में घुस गया. अब मैं उसकी कमर को पकड़ कर उसको चोदने लगा. उसकी हालत देखकर मैं और गर्म हो रहा था. उसके बाल जो पूरे पसीने से भीग गए थे.

मोटे मोटे बूब्स अब हवा में लटक रहे थे, फेस पूरा लाल हो चुका था और जांघ के नीचे से पानी बह रहा था, अब वह भी अपनी गांड को पीछे कर कर के मेरा लंड ले रही थी. में उसकी पूरी बॉडी को चूम रहा था, फिर उसके नेक पर किस कर रहा था, अचानक उसकी बॉडी कि स्मेल  मुझे और एक्साईट करने लगी. तब तक हम डौगी पोज में थे. मेने उसके लंबे बालों को पीछे से खींचकर स्पीड बढ़ा दी.

में जोर जोर से धक्के लगाने लगा, अचानक मेरे ऐसा करने से वह चीख पड़ी, बोली धीरे करो ना, लेकिन मुझे तो कंट्रोल नहीं हो रहा था. मेरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ पूरा अंदर जा रहा था. ७ मिनट तक उसकी चूत में जोर जोर से धक्का मारता रहा. फिर थोड़ा स्लो हुआ, तो उसने चिल्लाना कम किया. वह बोलने लगी कि कितने दिनों से चुदाई नहीं कीए हो? मैंने बोला १५ दिन हो गए, वह हंसने लगी और बोली कि १५ दिन में यह हाल है?

फिर थोडे धक्कों के बाद वह जड गई. वह अब तक वह तीन बार जड चुकी थी, एक बार बस में और दो बार रूम पर, उसने बताया. फिर उसके बूब्स को चूसते चूसते मैंने लंड को निकाला और उसके मुंह में दे दिया. वह अब पहले से मस्त चूस रही थी. अब उसके माउथ को में चोदने लगा. करीब ५ से ६ मिनट चूसने के बाद मैंने भी अपना पानी उसके मुंह पर निकाल दिया. फिर पूरे लंड को चाट चाट कर साफ किया उसने. फीर उसने बताया कि आज तक उसके पति ने कभी उसकी ऐसी चुदाई नहीं की थी.

फिर वह रेडी होने लगी, उसने मेरा नंबर ले लिया. बोली कि जब मन करेगा कॉल करुंगी. बहुत चांस लिया था उसको सिड्यूस करने के लिए बस में, वह औरत भी थोड़ी चालू थी तो चुद गई, सो फ्रेंड कैसी लगी आपको मेरी नई कहानी..